Sunday, April 30, 2017

राक्षसों और विधर्मियों के लिए भगवा बहुत बड़ा हथियार है : साध्वी प्रज्ञा

राक्षसों और विधर्मियों के लिए भगवा बहुत बड़ा हथियार है : साध्वी प्रज्ञा

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर जमानत मिलने पर बाहर आ गई है और जिन्होंने हिन्दुओं को खत्म करने के लिए एक प्लान बनाया था जिसमें सबसे पहले हिन्दू साधु-संतों एवं हिन्दू नेताओं को फँसाकर खत्म करने की रणनीति बनाई थी जिसका नाम दिया था "भगवा आतंकवाद" इसकी सच्चाई साध्वी जी ने प्रेस #कॉन्फ्रेंस करके मीडिया के सामने बताई ।
#SadhviPragya

साध्वी प्रज्ञा ने मीडिया को संबोधित किया और कांग्रेस के #षड्यंत्र को उजागर किया | उन्होंने कहा कि मैं पूरी तरह से निर्दोष थी और कांग्रेस ने साजिश के तहत मुझे फँसाया था | उन्होंने मुझे 9 साल तक जेल में रखकर बहुत प्रताड़ित किया | मुझे इतना मारा कि मेरे फेफड़े की झिल्ली फट गयी और मुझे कैंसर हो गया ।

साध्वी ने #मुंबई के कई पुलिस अधिकारियों का नाम लेते हुए बताया कि इन्होंने मुझे इतना प्रताड़ित किया जितना आजाद भारत से पहले और #आजाद भारत के बाद किसी भी स्त्री को प्रताड़ित नहीं किया गया होगा । उन्होंने कहा कि मुझे प्रताड़ित करने वालों में हेमंत करकरे, परमवीर सिंह भी थे | परमवीर सिंह इस वक्त थाणे के पुलिस #कमिश्नर हैं जबकि हेमंत करकरे मुंबई 26/11 हमले में मारा गया था ।

साध्वी ने कहा कि #कांग्रेस मुझे प्रताड़ित करवाकर मारना चाहती थी ताकि वे लोग भगवा #आतंकवाद की #परिभाषा गढ़ सकें, लेकिन इनकी ये कोशिश कामयाब नहीं हो पाई | इन लोगों ने मुझे मार-मारकर बीमार जरूर बना दिया लेकिन ये लोग मेरी #आत्मा, मेरे विश्वास को नहीं तोड़ पाए और आज मैं आप लोगों के सामने हाजिर हूँ ।

जब उनसे भगवा #आतंकवाद के बारे में पूछा गया तो साध्वी ने कहा कि कांग्रेस के तात्कालीन गृहमंत्री पी. चिदंबरम ने भगवा आतंकवाद की परिभाषा गढ़ी थी और मुझे फंसाने की साजिश की थी लेकिन कोर्ट में इतना तो साबित हो गया कि कोई भगवा आतंकवाद नहीं होता | उन्होंने पी. चिदम्बरम को विधर्मी और राक्षस बताते हुए कहा कि जो राक्षस और विधर्मी होते हैं वे भगवा से बहुत डरते हैं | इसलिए उनके लिए तो भगवा आतंकवादी ही होगा ना और उन्हें डरना भी चाहिए क्योंकि #राक्षसों के लिए ये भगवा बहुत बड़ा हथियार है।

उन्होंने कहा कि 9 साल तक मुझे लगातार प्रताड़ित किया | इससे ये तो निश्चित हो गया कि यह कांग्रेस का #षड्यंत्र था, पर मुझे भरोसा है कि अब मेरे साथ न्याय होगा ।

साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि पहले मैं पूरी तरह से ठीक थी और फिजिकली ट्रेंड भी थी लेकिन आज मैं बीमार हूँ, मुझे #कैंसर है, तो इसका कारण है ATS, #मुंबई | इन्होंने मुझे 9 दिन तक गैरकानूनी तरीके से बंधक बनाकर इतना प्रताड़ित किया था, मुझे इतना मारा था कि मेरे फेफड़ों की झिल्ली फट गयी और मुझे कैंसर हो गया, उस वक्त पांच दिन तक मैं वेंटीलेटर पर थी | उस वक्त उन्होंने मुझे #शारीरिक और मानसिक रूप से पूरी तरह तोड़ दिया | लेकिन आत्मिक तौर पर वे मेरा कुछ नहीं बिगाड़ पाए | मैं सिर्फ अपने आत्मबल से आप लोगों के सामने हूँ | वरना कांग्रेसियों ने मुझे ख़त्म करने का पूरा प्रयास किया था ।

आपको बता दें कि जॉइंट #इंटेलीजेंसी कमेटी के पूर्व प्रमुख और पूर्व उपराष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार डॉ. एस.डी. प्रधान ने देश में भगवा आतंक की थ्योरी को लेकर कई सनसनीखेज खुलासे किए हैं। 

उन्होंने भी स्पष्ट बताया है कि समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट, मालेगाँव ब्लास्ट, #इशरतजहाँ मामला का पहले से ही हमें पता था और अमेरिकन खुफिया विभाग ने भी बताया था कि ये सब घटनाएं होने वाली थी और ये पाकिस्तान करवा रहा है और हमने तात्कालीन #गृहमंत्री पी.चिदंबरम को बताया भी था लेकिन उन्होंने राजनैतिक फायदे के लिए भगवा #आतंकवाद सिद्ध करने के लिए #डी.जी.वंजारा, साध्वी प्रज्ञा, स्वामी #असीमानन्द, #शंकराचार्य अमृतानन्दजी, कर्नल पुरोहित और बाद में संत आसारामजी बापू और उनके बेटे को जेल भेजा गया था ।

आपको बता दें कि साध्वी की शुरुआत बेहद डरावनी थी ।  पहले उसे 10 पुलिसवालों ने घेरकर मारना शुरू किया, कोई #घूंसे से, कोई बेल्ट से, कोई बूट से ... फ़िर एक पुलिसवाला उस साध्वी के गले में रुद्राक्ष की माला देखता है जिस पर #सूर्यदेव का प्रतीक लगा होता है, गले पर हाथ रखकर वो रुराक्ष की माला को तोड़ देता है और बोलता है कि बुला अपने शिव या सूर्य को उनकी भी ऐसी की तैसी कर दूगा मैं ।

फ़िर दूसरा पुलिसवाला उस साध्वी के झोले को जमीन पर पटक देता है, उस झोले से श्रीमद #भगवतगीता की पवित्र पुस्तक निकलकर बाहर आती है । वो पुलिसवाला उस साध्वी के बाल पकड़कर कहता है कि इसी मनहूस किताब ने दुनिया और तेरे अंदर भगवा का जहर घोल रखा है | फिर वही #पुलिसवाला गीता के एक-एक पन्ने को फाड़कर राक्षसों की तरह हंसकर कहता है कि- बुला द्रौपदी ! बुला अपने कृष्ण को । उस #साध्वी की रीढ की हड्डी टूटी, फेफ़डे की झिल्ली फटी… गीता फाड़ने,
रुद्राक्ष तोड़ने, बूट चलानेवाले आज भी इसी संसार में हैं, पूरी तरह सुखी और संपन्न हैं। आजादी के बाद सबसे #भीषण प्रताड़ना झेलने वाली नारी साध्वी #प्रज्ञा का बुरहान की गोली और याकूब की फांसी की चिंता करनेवालों को कभी हजारों चीखों में से एक आह भी नहीं सुनाई दी, 

कितना बड़ा आश्चर्य का विषय है !!

आपको बता दें कि जो भी हिन्दू साधु #संत या कायकर्ता #ईसाई #धर्मान्तरण पर रोक लगाते थे उनको वेटिकन सिटी के संकेत पर सोनिया गांधी ने सभी निर्दोष #हिन्दू #सन्तों को अपना निशाना बनाया था । 

ये सभी संत हिन्दू संस्कृति का परचम लहराने वाले और #धर्मान्तरण के विरोधी रहे हैं ।

जागो हिन्दू !!

Official Azaad Bharat Links:👇🏻

🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk

🔺Facebook : http://aww.su/Whsem 

🔺 Twitter : https://goo.gl/he8Dib

🔺 Instagram : https://goo.gl/PWhd2m

🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX

🔺Blogger : https://goo.gl/N4iSfr

🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG

🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

   🚩🇮🇳🚩 आज़ाद भारत🚩🇮🇳🚩

Saturday, April 29, 2017

अहमदाबाद में 7 वर्ष की बच्ची के साथ मदरसा के मौलवी ने किया रेप, मीडिया ने साधी चुप्पी

अहमदाबाद में 7 वर्ष की बच्ची के साथ मदरसा के मौलवी ने किया रेप, मीडिया ने साधी चुप्पी

प्रिंट मीडिया हो या इलेक्ट्रॉनिक मीडिया हो, किसी हिन्दू साधु-संत के ऊपर आरोप लगते ही उनके खिलाफ मीडिया ट्रायल चालू कर देती है जैसे कि उनके ऊपर आरोप सिद्ध ही हो चुका हो ।
rape by maulvi

लेकिन वहीं दूसरी ओर इस्लाम धर्म के मौलवियों या ईसाई धर्म के पादरियों पर जब आरोप लगता है तो मीडिया कहीं पर भी कोई खबर प्रसारित नही करती ।

गुजरात अहमदाबाद ईसनपुर इलाके में 27 अप्रैल 2017 (गुरुवार) को मदरसे में गरीब परिवार की नाबालिग सात वर्षीय बच्ची सुबह पढ़ने गई थी, उस समय 27 वर्षीय मौलवी #महम्मद मुज्जफर हुसैन शेख बच्ची के पास आया और उसको #मदरसे के पास #बाथरूम में लेकर गया, वहाँ उसने बच्ची के साथ जबरदस्ती #बलात्कार किया, #बच्ची ने जोर-जोर से चिल्लाना चालू किया, लोग बाथरूम के पास आ गए, #मौलवी वहाँ से भाग गया।

बच्ची के माता-पिता भी #मदरसे में आ पहुँचे, बच्ची के माता-पिता ने #ईसनपुर पुलिस स्टेशन में एफ.आई.आर. लिखवाई, पुलिस ने मौलवी महम्मद हुसैन को गिरफ्तार कर लिया, अब आगे की कार्यवाही चल रही है ।

इतनी बड़ी घटना है लेकिन किसी भी #मीडिया में ये खबर नहीं चल रही है । लेकिन अगर मौलवी की जगह कोई हिन्दू धर्म के गुरु होते और उनके ऊपर कोई #झूठा आरोप भी लगा दे तो भी मीडिया दिन रात दिखाती, डिबेट बैठाती और बताती कि हिन्दू धर्म के सभी साधु-संत खराब हैं ।

अब आपके मन में प्रश्न उठता होगा कि आखिर ऐसा क्यों हो रहा है?

हम आपको बताते हैं कि $हिन्दू धर्म सनातन धर्म है । उसको मिटाने के लिए सदियों से दुष्ट प्रकृति के आसुरी स्वभाव के लोग पीछे पड़े हैं जैसे कि भगवान श्री रामजी के समय रावण, कुंभकर्ण आदि, भगवान श्री कृष्ण के समय कंस, कौरव आदि, छत्रपति #शिवाजी के समय मुगल और वर्तमान में ईसाई मिशनरियां और मुस्लिम धर्मान्तरण वाले,विदेशी कम्पनियां और आतंकवादी आदि आदि ।

हिन्दू धर्म जो #सनातन धर्म है, भारत की दिव्य संस्कृति है, उसको नष्ट करने के लिए, पाश्चात्य संस्कृति हमारे ऊपर थोपने के लिए विदेशी लोग पुरजोश प्रयास कर रहे हैं ।


हम आपको बता दें कि मुस्लिम धर्म की स्थापना हुए 1400 साल हुए हैं और ईसाई धर्म की स्थापना हुए 2017 साल हुए हैं, लेकिन हिन्दू धर्म तो सनातन धर्म है । जबसे पृथ्वी की उत्पत्ति हुई है तबसे ही सनातन हिन्दू धर्म है । उस पर जब विदेशी लोग कुठाराघात करते हैं, उसे बचाने के लिए हिन्दू धर्म के साधु-संत आगे आते हैं ।  इसलिए #विदेशी लोग मीडिया को हिन्दू साधु-संतों को बदनाम करने के लिए फन्ड देते हैं।

अब सवाल उठता है कि आखिर वो हिन्दू साधु-संतों को बदनाम करने के लिए इतना पैसा कहाँ से लाते होंगे और उससे उनको क्या फायदा होता होगा?

हम आपको बता देते हैं कि भारतीय संस्कृति प्राचीन संस्कृति है और उसमें सभी कार्य धर्म अनुसार किये जाते हैं ।  उसमें #दारू पीना, व्यसन करना, मांस खाना, अर्धनग्न कपड़े पहनना, फैशन करना, #बॉय फ्रेंड- गर्ल्स फ्रेंड बनाना, हत्या करना आदि हिन्दू संस्कृति में नहीं है ।

लेकिन पश्चात संस्कृति में ये सब है और वे सब भारत पर थोपना चाहते  हैं । लेकिन भारत में साधु-संत गाँव-गाँव, नगर-नगर जाकर लोगों  में जागृति लाते हैं, हिन्दू संस्कृति की महिमा बताते हैं और #भारतवासियों को #पाश्चात्य संस्कृति को अपनाने से होने वाली हानियों से अवगत करवाते हैं तो भारत के लोग दारू, बीड़ी, सिगरेट, चरस, #अफीम, चाय आदि व्यसन छोड़ देते हैं, स्वस्थ रहने के लिए घरेलू उपाय बताने पर #एलोपैथिक दवाइयां खरीदना बन्द कर देते हैं, #सिनेमा में जाना, #सेक्सवर्धक सामग्री लेना बंद कर देते हैं, मांस खाना बंद कर देते हैं, टूथपेस्ट, पफ, #पाऊडर आदि का उपयोग बंद कर देते हैं । 

 कहने का सार ये है कि भारत की करोड़ो की जनता में साधु-संतो के कारण अपने धर्म के प्रति जागृति आती है जिससे वे विदेशी सामान लेना बंद कर देते हैं और #हिन्दू #ईसाई या #मुस्लिम धर्म में परिवर्तित होने से बच जाते हैं जिससे उनको #अरबों-खबरों रूपयों का नुकसान होता है जिससे वे कुछ हजार करोड़ रुपये साधु-संतों और हिन्दू कार्यकर्ताओं को बदनाम करने में लगा देते हैं जिससे लोगों का उनके प्रति #श्रद्धाभाव नष्ट हो जाये और हिन्दू धर्म के प्रति जनता को विश्वास कम होता जाए और पाश्चात्य संस्कृति के तरफ #आकर्षित होते जाएं और उनकी विदेशी कंपनियों के सामान खरीदें और धर्मान्तरणवालों की भी दुकानें चलती रहें । इसलिए वे मीडिया को फंडिग करके साधु-संतों को बदनाम करवाते हैं।

अब हमारे पाठक समझ ही गए होंगे कि भारत में किस प्रकार का एक सुनियोजित #षड्यंत्र चल रहा है और हमारी #संस्कृति को नष्ट करने के लिए राष्ट्रविरोधी ताकतें काम कर रही हैं ।

आपने देखा होगा कि जब #साध्वी प्रज्ञा और स्वामी #असीमानंद के ऊपर आरोप लगे थे तब मीडिया ने उनके लिए कितनी खबरें चलाई थी लेकिन जैसे ही वे #निर्दोष छूटे तो एक भी खबर नहीं दिखाई ।

"यह है मीडिया का हिन्दू #साधु-संतों के विरोधी रवैया।"

विदेशी फंडिग से चलने वाली मीडिया किसी भी हिन्दू साधु-संत या कार्यकर्ताओं को बदनाम करती है तो #हिंदुस्तानी #सावधान हो जाएँ और ऐसे चैनल्स को ब्लॉक कर दें, केवल राष्ट्र हितैषी चैनल को ही देखें।

जय हिंद!!

🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻

🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk

🔺Facebook : http://aww.su/Whsem 

🔺 Twitter : https://goo.gl/he8Dib

🔺 Instagram : https://goo.gl/PWhd2m

🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX

🔺Blogger : https://goo.gl/N4iSfr

🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG

🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

   🚩🇮🇳🚩 आज़ाद भारत🚩🇮🇳🚩

Friday, April 28, 2017

धनंजय देसाई 2012 चतुश्रृंगी इलाके केस में निर्दोष बरी, बापू आसारामजी के समर्थक भड़के

 धनंजय देसाई 2012 चतुश्रृंगी इलाके केस में निर्दोष बरी, बापू आसारामजी के समर्थक भड़के

पुणे: जनवरी 2, 2012 को चतुश्रृंगी इलाके के जनवाड़ी में दो समुदायों के सदस्यों के बीच हिंसा के लिए हिरासत में लिए 35 वर्षीय हिंदू राष्ट्र सेना ( #एचआरएस) के प्रमुख धनंजय जयराम देसाई और 14 अन्य को जिला अदालत न्यायाधीश एस.जी #गिमेकर ने हत्या के प्रयास और दंगे मामले में बरी कर दिया।
 धनंजय देसाई 2012 चतुश्रृंगी इलाके केस में निर्दोष बरी, बापू आसारामजी के समर्थक भड़के
वकील मिलिंद पवार ने तर्क दिया था कि देसाई और अन्य सह-आरोपी के खिलाफ आपराधिक षड्यंत्र, #हत्या के प्रयास और दंगों के आरोपों के कोई ठोस साक्ष्य नहीं है और देसाई को इस मामले में #पुलिस ने फंसाया था और वह अपराध के दृश्य पर मौजूद ही नहीं थे ।

कोर्ट को कोई #साक्ष्य और ठोस सबूत नही मिलने पर धनंजय देसाई को निर्दोष बरी कर दिया ।

 #फेसबुक पर 2 जून 2014 शिवाजी और बाला ठाकरे की #आपत्तिजनक पोस्ट किए जाने के बाद पुणे के हदपसर में भीड़ की तरफ से की गई मोहसिन शेख की हत्या के सिलसिले में हिंदू राष्ट्र सेना के स्वयंभू प्रमुख धनंजय देसाई को गिरफ्तार किया था । वर्तमान में इस हत्या के आरोप में येरवाड़ा (पुणे) जेल में धनंजय देसाई बंद है।

अभी जनता सवाल उठ रही है कि श्री धनंजय देसाई 2014 से बिना सबूत जेल में बन्द हैं उनके ऊपर एक भी #आरोप सिद्ध नही हुआ है और 2012 में चतुश्रृंगी इलाके केस में पुलिस द्वारा फंसाये जाने का सबूत भी मिल गया है और उनको #निर्दोष बरी कर दिया गया है फिर भी 2014 #मोहसिन #शेख के केस में जमानत तक नही मिलना बड़ा आश्चर्य है ।

ऐसे ही मालेगांव बम ब्लास्ट में खुलासा हो चुका है कि #पाकिस्तानियों ने बम ब्लास्ट किया था लेकिन फिर भी #कर्नल #पुरोहित को जमानत नही मिल पा रही है ।

2013 से बिना सबूत हिन्दू संत आसारामजी बापू भी जेल में कैद हैं जबकि उनको मेडिकल में क्लीन चिट भी मिल चुकी है और भाजपा नेता डॉ #सुब्रमण्यम स्वामी ने भी एफ.आई.आर पढ़ी और कहा कि पूरा केस फर्जी है षड्यंत्र के तहत संत आसारामजी बापू को फंसाया गया है ।

क्या इन हिन्दुत्वनिष्ठों को हिन्दू संस्कृति को उजागर करने की मिल रही है सजा ???


एक ओर रेप आरोपी तरुण तेजपाल को 3 महीने में, राजद विधायक #राजवल्लभ यादव को 6 महीने में और सपा मंत्री #गायत्री प्रजापति को 40 दिन में ही जमानत दे दी गई है जबकि उनके खिलाफ तो पुख्ता साक्ष्य भी हैं वहीं दूसरी ओर बापू #आसारामजी के ऊपर #षडयंत्र करने के सैकड़ों सबूत मिल चुके हैं । फिर भी नेता, पत्रकारों को जमानत और हिन्दू संतों को जेल क्यों..???

इन सवालो को लेकर बापू आसारामजी के समर्थक भड़के और ट्वीट करने लगे

आइये जानते है क्या लिख रहे थे यूजर?

विवेकानंद लिखते हैं कि आश्चर्य की बात है कि गैंगरेप के अपराधी को बेल मिल गयी ।
और आसारामजी बापू को नहीं जबकि उनके ऊपर यही केस लगा है।
 कैसा इंसाफ? https://twitter.com/vikkkuuu/status/857147415035617280?s=08


प्रेम हिंदुस्तानी @Swamy39 को टैग करके कहते हैं कि सर कृपया स्पष्ट करें कि क्यों हर बार आसारामजी बापू को बेल से वंचित रखा जाता है? https://twitter.com/NAMOBJPINDIA/status/857146421279117313?s=08


भविशा लिखती है कि
एक ओर अपराधियों की शीघ्र रिहाई और दूसरी ओर दोष सिद्धि के बिना निर्दोष संत को 3 वर्षों से अधिक समय तक जेल!
ये #पक्षपाती_न्यायव्यवस्था है !! https://twitter.com/BhavishaVerma31/status/857439589992194052


रवि लिखते हैं कि हर हर मोदी गाने वाले @PMOIndia के सुशासन काल में भी
#पक्षपाती_न्यायव्यवस्था बरकरार है ।https://twitter.com/05Raavi/status/857302712609886214

स्वाति लिखती हैं कि #पक्षपाती_न्यायव्यवस्था से स्पष्ट हो रहा है कि कानून 100% बिकाऊ है । https://twitter.com/Swati_penkar/status/857300860380078085


वासु डंगवाल ने लिखा कि हर नागरिक का बेल मिलना अधिकार होते हुये भी सिर्फ हिंदू संतो को बेल न देना यह #पक्षपाती_न्यायव्यवस्था नहीं क्या? https://twitter.com/vasu_dangwal/status/857553820519419910


प्रीति लिखती है कि लो कर लो बात,
"यहाँ तो कानून भी बिकता है साहब...!"
ऐसी #पक्षपाती_न्यायव्यवस्था की गुनहगार आजाद और निर्दोष संत कैद में !
https://twitter.com/preeti_jangid2/status/857553410794692609


सुहासिनी लिखती है कि #पक्षपाती_न्यायव्यवस्था के लिए भारत सरकार जिम्मेदार है जो संत #Asaram Bapu Ji की निर्दोषता को महत्व नहीं दे रही !
https://twitter.com/suhasin94096618/status/857549725595127808

अंजू ने लिखा कि पैसो की भूखी #Media तो मुँह खोल के बैठी ही है क्या अब न्यायालय को भी कुछ चाहिए ? #पक्षपाती_न्यायव्यवस्था
https://twitter.com/RanglaniAnju/status/857548887111999488

राजमल गोयल ने लिखा कि क्या यही है भारत की न्याय प्रक्रिया??? POCSO ACT में राजनेता गायत्री प्रजापति को बेल,तो निर्दोष संत को जेल क्यों? #पक्षपाती_न्यायव्यवस्था
https://twitter.com/RajmalGoyal/status/857548108506341377


?इस तरह से बापू आसारामजी के समर्थकों के साथ कई बुद्धिजीवी भी धनंजय देसाई, कर्नल पुरोहित , संत #आसारामजी बापू के लिए न्यायालय से गुहार लगाते दिखे ।

क्या सच में कानून समान है ???

सोचो हिन्दुस्तानी!!

🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻

🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk

🔺Facebook : https://goo.gl/immrEZ

🔺 Twitter : https://goo.gl/he8Dib

🔺 Instagram : https://goo.gl/PWhd2m

🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX

🔺Blogger : https://goo.gl/N4iSfr

🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG

🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

   🚩🇮🇳🚩 आज़ाद भारत🚩🇮🇳🚩

Thursday, April 27, 2017

मुस्लिम धर्म से परेशान होकर मुस्लिम परिवारों ने अपनाया हिन्दू धर्म

🚩मुस्लिम धर्म से परेशान होकर #मुस्लिम परिवारों ने अपनाया #हिन्दू धर्म

🚩उत्तर प्रदेश के फैजाबाद में अपने ही #धर्म के लोगों से परेशान होकर दो दर्जन से भी ज्यादा मुस्लिम लोगों ने #हिंदूधर्म को अपना लिया है और साथ ही सभी #वैदिक हिंदू धर्म अपनाने की #धार्मिक प्रक्रिया पूरी की । घर वापसी करने वाले मुस्लिमों को आर्य समाज और संघ के नेता द्वारा आयोजित विशेष पूजन के बाद #हिंदूधर्म में वापिस शामिल किया गया है। 
ghar vapsi

🚩#आर्य समाज और संघ के नेता का दावा है कि सभी लोगों ने अपनी मर्जी से हिंदू धर्म अपनाया है।

आपको बता दें कि यह मामला रविवार को अम्बेडकरनगर जिले के #आलापुर क्षेत्र का है जहां दर्जन भर से ज्यादा मुस्लिम समुदाय के लोगों ने #हिंदू धर्म अपना लिया है और साथ में इन लोगों ने मुस्लिम नाम को छोड़कर #हिंदू नाम भी रख दिया है। हालांकि, सुरक्षा कारणों से इन लोगों के नामों को उजागर नहीं किया गया है। 

🚩आर्य समाज के प्रधान #हिमांशु त्रिपाठी ने कहा कि आर्य समाज के संस्थापक #महर्षि दयानंद सरस्वती के पदचिन्हों पर चलते हुए परम पिता #परमेश्वर की प्रेरणा से बिना किसी लोभ, भय अथवा दबाव के एक दर्जन से अधिक लोगों ने पूर्ण #वैदिक विधि-विधान के साथ विशेष का कार्यक्रम #आचार्य शर्ममित्र शर्मा द्वारा सम्पन्न कराया ।
 विश्व हिन्दू परिषद के #प्रवीण तोगड़िया ने भी कुछ समय पहले बताया था कि हमने करीब 5 लाख #मुस्लिमों को हिन्दू धर्म में वापसी करवाई है ।

🚩क्या आप जानते हैं कि अखण्ड भारत में मुस्लिम #धर्म था ही नही लेकिन विदेशी आक्रमणकारी मुगलों ने भारत में आकर लूट-पाट की और हिन्दुओं को क्रूर मुगलों ने #तलवार की नोक पर जबरदस्ती मुस्लिम धर्म में परिवर्तन करवाया लेकिन अब जिन मुस्लिमों को पता चल रहा है कि हमारे पूर्वज #हिन्दू थे हमें जबरदस्ती मुस्लिम धर्म परिवर्तन करवाया था तो अब  #मुस्लिम धर्म छोड़कर फिर से #हिन्दूधर्म अपना रहे हैं ।

🚩शरिया एक्ट से कई मुस्लिम लोग #परेशान हैं ।


जानिये क्या है शरिया लॉ एक्ट ??
भारत में कैसे आया ??


🚩भारत में अलग-अलग समाज के लोग रहते हैं । भारतीय #संविधान के अनुच्छेद 14 के अनुसार भारत में रहने वाले सभी लोगों को एक समान संरक्षण का अधिकार है, लेकिन जहाँ मुसलमानों के व्यक्तिगत मुद्दों की बात आती है वहाँ कई अहम मुद्दों पर मुसलमान #शरिया के अनुसार उन मुद्दों का निराकरण करते हैं। ये मुद्दे है निकाह, तलाक, विरासत, बच्चों का उत्तराधिकार आदि। 
अधिकतर शरिया या शारियत सुनने व पढ़ने में आता है।

 आखिर ये है क्या और कब से ये लागू हुआ ?  

🚩 जिसका हवाला देते हुए तमाम मौलाना कहते हैं कि उनके मामलों में दखल ना दे #सरकार .. 


🚩इस्लामिक समाज शरीयत के अनुसार चलता है। शरीयत में #मोहम्मद पैगंबर द्वारा किए हुए काम के शब्द शामिल हैं । #मोहम्मद पैगंबर के बाद कई संस्थाओं ने अपने अनुसार इस्लामिक कानूनों की व्याख्या की और इन्हें प्रसारित व प्रचारित किया। इस्लामिक लॉ की #चार संस्थायें हैं जो कुरान में लिखे शब्दों की व्याख्या करती हैं। ये संस्थाएं हैं हनफिय्या , मलिकिय्या, शफिय्या और हनबलिय्या । जो अलग-अलग सदी में विकसित हुई थी। मुस्लिम देश अपने अपने मुताबिक इन संस्थाओं के #कानूनों का पालन करते हैं ।


शरीयत आखिर भारत में कैसे आया ? 


🚩भारत में मुस्लिम पर्सनल लॉ एप्लिकेशन एक्ट ब्रिटिशों की देन है। #ब्रिटिश सरकार का #भारतीयों पर जब राज करना मुश्किल होने लगा तब #ब्रिटिश सरकार ने भारतीयों पर उनके सांस्कृतिक नियमों के आधार पर राज करने की प्रक्रिया निकाली। #ब्रिटिश सरकार ने मुसलमानों के व्यक्तिगत मुद्दे पर हस्तक्षेप करने से इन्कार कर दिया। उन्होंने मुसलमानों के व्यक्तिगत मुद्दों के लिए मुस्लिम लॉ एक्ट लाकर उन्हें उनके व्यक्तिगत मुद्दों पर उठे विवादों को शरीयत के अनुसार ही सुलझाने की छूट दे दी।   #ब्रिटिश सरकार ने 1937 मुस्लिम लॉ एक्ट लाकर जो विभाजन करवाने का कार्य किया वैसा ही कार्य कुछ #पूर्ववर्ती सरकारों ने किया । 

🚩सन् 1985 में एक 62 वर्ष की मुस्लिम महिला शाह बानो ने #सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दाखिल की जिसमें उसने अपने पूर्व पति से गुजारे #भत्ते की मांग की थी। #सुप्रीम कोर्ट ने उनकी इस मांग से सहमत होकर इस मुद्दे को सही बताया और अपनी मुहर लगाई। इस फैसले का मुस्लिम समाज में काफी #विरोध देखने को मिला व इसे कुरान के खिलाफ बताया। इस मामले ने काफी तूल पकड़ लिया था। तब तत्कालीन  #प्रधानमन्त्री  ने वोट बैंक के #लालच में ऐसा फैसला लिया जिससे देश आज भी प्रभावित है। तत्कालीन #प्रधानमन्त्री  राजीव गांधी ने मुस्लिम महिला संरक्षण तलाक अधिकार अधिनियम को पास कर दिया। 

🚩जिसके अनुसार पति के लिए #तलाकशुदा पत्नी को गुजारा #भत्ता देना तो जरूरी हो गया था लेकिन साथ ही ये प्रावधान भी था कि यह #भत्ता केवल #इद्दत की अवधि के दौरान ही देना होगा। #इद्दत तलाक के 90 दिनों बाद तक ही होती है । 

🚩उपरोक्त #कानून की पूरी विवेचना आदि वर्तमान में #सुप्रीम कोर्ट और केंद्र सरकार के लिए आवश्यक है जिससे समान नागरिक #आचार संहिता का पालन हो कर सबके लिए समान कानून बन सके । फिलहाल 3 #तलाक के विषय में 3 #तलाक के तमाम समर्थक शरीयत एक्ट पर चल कर 3 #तलाक को कायम रखने की मांग कर रहे हैं ।    

🚩अब #न्यायालय और #सरकार को भारतीय संविधान से अलग चलने वाले #शरिया कानून को तुरन्त #खत्म कर देना चाहिए ।


🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻

🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk

🔺Facebook : https://goo.gl/immrEZ

🔺 Twitter : https://goo.gl/he8Dib

🔺 Instagram : https://goo.gl/PWhd2m

🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX

🔺Blogger : https://goo.gl/N4iSfr

🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG

🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

   🚩🇮🇳🚩 आज़ाद भारत🚩🇮🇳🚩

Wednesday, April 26, 2017

निर्दोष साध्वी प्रज्ञा को 9 साल में जमानत, रेप के आरोपी प्रजापति को 40 दिन में ही जमानत क्यों?

🚩निर्दोष साध्वी प्रज्ञा को 9 साल में जमानत, रेप के आरोपी प्रजापति को 40 दिन में ही जमानत क्यों?

🚩2008 मालेगांव बम विस्फोट में साजिश रचने की बनाई गई आरोपी #साध्वी_प्रज्ञा_सिंह ठाकुर को मंगलवार (25 अप्रैल) को मुंबई उच्च न्यायालय में न्यायमूर्ति रंजीत मोरे और न्यायमूर्ति शालिनी फनसाल्कर जोशी की खंड पीठ ने कहा, ‘साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर की अपील को मंजूरी दी जाती है । याची (साध्वी) को पाँच #लाख रुपये की जमानत पर रिहा करने का निर्देश दिया जाता है।  प्रसाद पुरोहित की ओर से दायर अपील को खारिज किया जाता है ।’ 
conspiracy against india

🚩 #न्यायमूर्ति मोरे ने आदेश में कहा है कि पहली नजर में साध्वी के खिलाफ कोई मामला नहीं बनता है ।

🚩एनआईए जाँच एजेंसी के मुताबिक, विस्फोट को दक्षिणपंथी संगठन अभिनव भारत ने कथित तौर पर अंजाम दिया था और पुरोहित और प्रज्ञा सहित कुल 11 लोग इस मामले में अभी #जेल में हैं ।

🚩एनआईए ने पुरोहित की जमानत की अर्जी का विरोध किया ।

🚩पुरोहित ने दलील दी थी कि एनआईए कुछ आरोपियों को आरोपमुक्त करने में भेदभाव कर रही है और एजेंसी ने उसे मामले में बलि का बकरा बनाया है ।

🚩जब #एनआईए ने साफ कह दिया है कि दक्षिणपंथी संगठन ने मालेगांव ब्लास्ट किया है फिर कर्नल पुरोहित को क्यों जमानत देने का विरोध कर रही है?

🚩गौरतलब है कि 29 सितंबर 2008 को #मालेगांव में एक बाइक में बम लगाकर विस्फोट किया गया था जिसमें आठ लोगों की मौत हुई थी और तकरीबन 80 लोग जख्मी हो गए थे। साध्वी और पुरोहित को 2008 में गिरफ्तार किया गया था और तब से वे जेल में हैं।

🚩अब जनता सवाल कर रही है कि भयंकर यातनाऐं देकर 9 साल से साध्वी प्रज्ञा को जेल में रखा गया, रीढ़ की हड्डी तोड़ दी गई, जेल में कैंसर हो गया और अब एनआईए और न्यायालय बोलता है कि उनके खिलाफ कोई मामला बनता नही है, तो 9 साल से जो साध्वी प्रज्ञा जी को बिना सबूत #जेल में रखा, उनका जो समय गया, उनका स्वास्थ्य गया वो क्या न्यायालय लौटा पायेगा? 

मीडिया ने उनकी जो खूब बदनामी की क्या वो इज्जत मीडिया दोबारा लौटा पायेगी ?

🚩ऐसे ही कुछ समय पूर्व स्वामी #असीमानन्द को 8 साल के बाद जेल से रिहा किया गया उनको भी बिना सबूत ही जेल में रखा गया था ।

🚩लेकिन वहीं दूसरी ओर #उत्तर प्रदेश में सपा सरकार के दौरान कैबिनेट मंत्री गैंग रेप के आरोपी गायत्री प्रजापति को 40 दिन के बाद आज (25 अप्रैल) को लखनऊ की पॉस्को कोर्ट ने जमानत दे दी है। पूर्व मंत्री के अलावा अन्य 2 आरोपी को भी जमानत दी है।

🚩महिला ने #गायत्री_प्रजापति पर आरोप लगाया है कि उसके साथ #गैंगरेप और नाबालिक बेटी के साथ भी यौन शोषण किया। प्रजापति और 6 अन्य लोगों के ख‍िलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज हुआ था। गायत्री को 15 मार्च 2017 को गिरफ्तार किया गया था 25 अप्रैल को जमानत मिल गई ।

🚩वहीं दूसरी ओर केवल छेड़छाड़ी के आरोप में हिन्दू संत बापू आसारामजी 4 साल से जेल में बन्द है, जबकि उनको मेडिकल में क्लीनचिट भी मिल चुकी है और कॉल डिटेल्स से भी पता चला है कि जिस समय #छेड़छाड़ी का आरोप लगाया है उस समय तो वो अपने किसी मित्र से फोन पर बात कर रही थी और बापू आसारामजी भी किसी अन्य कार्यक्रम में व्यस्त थे और उनको षडयंत्र के तहत फंसाने के सैकड़ों सबूत भी मिले हैं लेकिन फिर भी जमानत क्यों नही मिल पा रही है???

क्या कानून सबके लिए समान है...???


🚩क्यों नेता, अभिनेता, अमीरों को शीघ्र जमानत दी जाती है लेकिन हिंदुस्तान में ही हिन्दू संत #बापू #आसारामजी को 4 साल से और अन्य संतों और कार्यकर्ताओं को क्यों जमानत नहीं दी जा रही है ??

क्या यही हमारी उत्तम न्याय व्यवस्था है..???

🚩देश के 9000 हजार करोड़ लेकर भागने वाले #विजय_माल्या को तो केवल 3 घण्टे में ही जमानत मिल गई ।

🚩इन निर्दोष हिन्दू #साधु-संतो के खिलाफ एक भी सबूत नहीं है फिर भी इनको सालों से जेल में रखा जा रहा है, #मीडिया द्वारा खूब बदनामी की जाती है।

 आखिर ऐसा क्यों ???

🚩क्या इनका यही गुनाह है कि इन्होंने धर्मान्तरण पर रोक लगाई और गाँव-गाँव, नगर-नगर जाकर #देश-विदेश में हिन्दू संस्कृति का प्रचार प्रसार किया । जनता में राष्ट्र भक्ति जगाई ।

🚩क्या इनका यही गुनाह था कि इन्होंने विदेशी कंपनियों से लोहा लिया और लोगों को #स्वदेशी की ओर मोड़ा।

🚩क्या इनका यही गुनाह था कि विदेशी कल्चर का #बहिष्कार करवाया और भारतीय संस्कृति की ओर आकर्षित किया ।

🚩या ये गुनाह है कि इन्होंने अनेक गौशालायें खुलवाकर #कत्लखाने जाती गायों को बचाया और लोगों को गाय माता को बचाने के प्रति जाग्रत किया ।

🚩लगता है इनका #हिन्दू_संत होना ही सबसे बड़ा गुनाह है क्योंकि इस देश में सिर्फ हिन्दू #संतों और कार्यकर्ताओं से ही उनके मौलिक अधिकार छीन लिए गए हैं। 

🚩एक बात तो पक्की हो गई कि जो भी हिंदुत्वनिष्ठ आगे आकर हिन्दू संस्कृति के प्रचार प्रसार में लगेगा उन पर #राष्ट्रविरोधी तत्वों द्वारा ऐसे ही हमला होगा ।

🚩अब हिन्दू का जगने का समय आ गया है। हिन्दुत्वनिष्ठों के साथ हो रहे अन्याय पर अब हिन्दू चुप नहीं बैठेगा ।

🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻

🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk

🔺Facebook : https://goo.gl/immrEZ

🔺 Twitter : https://goo.gl/he8Dib

🔺 Instagram : https://goo.gl/PWhd2m

🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX

🔺Blogger : https://goo.gl/N4iSfr

🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG

🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

   🚩🇮🇳🚩 आज़ाद भारत🚩🇮🇳🚩