Tuesday, November 29, 2016

आज आम आदमी कोर्ट जाने से डरता है क्योंकि उसे पता है केस करूँगा तो फैसला जल्दी आने वाला नही है

आम आदमी का सवाल :
150 वर्षों की न्याय यात्रा में हमें क्या मिला...???
इलाहाबाद हाईकोर्ट की स्थापना के 150 गौरवशाली वर्षों और इसके भवन के सौ वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में हाईकोर्ट जश्न मना रहा है।
तमाम समारोहों और कार्यक्रम के जरिए इन गौरवशाली वर्षों और उपलब्धियों को याद किया जा रहा है ।
मगर इन सबके बीच आम आदमी यह भी पूछा रहा है कि इन डेढ़ सौ वर्षों की यात्रा में उसे क्या हासिल हुआ...???
आम जनता की ओर से यह सवाल इलाहाबाद हाईकोर्ट के न्यायाधीश जस्टिस सुधीर अग्रवाल ने उठाया है।
मुख्य न्यायाधीश और बार एसोसिएशन को लिखे पत्र में जस्टिस अग्रवाल ने आम वादकारी (फरियादकर्ता) के हित में कदम उठाने की अपील भी की है।
शनिवार को आयोजित शताब्दी समारोह के मौके पर आम वादकारी (फरियादकर्ता) को भूलने पर चिंता जाहिर करते हुए जस्टिस अग्रवाल ने कहा है कि आम आदमी यह पूछ रहा है कि इन 150 वर्षों की न्याय यात्रा में उसे क्या हासिल हुआ ? सिवाए मुकदमों के फैसलों का वर्षों इंतजार करने और तारीखें गिनने के। 
हाईकोर्ट में लाखों मुकदमेँ विचाराधीन हैं और वादकारी (फरियादकर्ता) दशकों से न्याय की आस लगाए हैं। हमें कुछ ऐसा करना चाहिए जिससे जनता को एहसास हो कि न्यायपालिका अविलंब न्याय देने को लेकर गंभीर है।
Azaad Bharat - आम आदमी का सवाल :150 वर्षों की न्याय यात्रा में हमें क्या मिला...???

जस्टिस अग्रवाल ने सुझाव दिया है कि क्यों न डेढ़ सौ स्थापना वर्ष पूरे होने से पूर्व हम अगले वर्ष 17 जनवरी से 17 मार्च के बीच पड़ने वाले हर शनिवार को अदालत खुली रखें और इस दौरान 2010 से पहले के मुकदमों को निपटाया जाए। इन दिनों में नए मुकदमों की सुनवाई न की जाए। ऐसा करके हम हजारों पुराने मुकदमों को निपटा सकते हैं।
पत्र में उन्होंने कहा है कि समारोह में अपनी उपलब्धियां याद करते समय हम वादकारियों (फरियादकर्ताओं) को भी उसमें शामिल करें। उन्हें पता चलना चाहिए कि जिनके लिए इस न्यायपालिका का गठन हुआ उनके लिए भी हम कुछ करना चाहते हैं। 
उन्होंने शनिवार को काम करने का प्रस्ताव पारित करने का सुझाव देते हुए कहा है कि यदि हम न्याय देने में गति ला सकें तो वह इस समारोह वर्ष की उपलब्धि होगी। 
जस्टिस अग्रवाल ने पत्र की प्रतियां मुख्य न्यायधीश दिलीप बी भोसले के अलावा हाईकोर्ट बार एसोसिएशन और एडवोकेट्स एसोसिएशन के अध्यक्षों को भी भेजी हैं।
जस्टिस अग्रवाल ने जो प्रश्न उठायें वो सही में सरहानीय कदम है जस्टिस अग्रवाल की तरह आज सभी न्यायधीश हो जायें तो एक भी मुकदमा बाकि नही रहेगा और सभी को शीघ्र न्याय मिलेगा ।
आज आम आदमी कोर्ट जाने से डरता है क्योंकि उसे पता है केस करूँगा तो फैसला जल्दी आने वाला नही है , सालों तक चक्कर काटते रहो फिर भी मिलती है तो बस अगली तारीख, न्याय नही मिलता । 
न्याय मिलने में महीने नही सालों लग जाते हैं । न्याय पाने के लिए व्यक्ति अपना घर, जमीन, गहने तक बेच देता है लेकिन फिर भी उसको मिलती है तो सिर्फ अगली तारीख.....
कई बार तो न्याय की आस में कोर्ट के चक्कर काटते काटते जिंदगी पूरी हो जाती है लेकिन न्याय नही मिल पाता है ।
और कहावत है कि "लंबे समय तक न मिलने वाला न्याय अन्याय ही है" ये बात 100% सही भी है ।
कोई किसी पर झूठा आरोप लगा दे और उसे जेल में धकेल दिया जाये फिर उसको जमानत तक नही मिल पाये और वर्षों तक बिना अपराध सिद्ध जेल में रहने के बाद उसको निर्दोष बरी किया जाये तो कैसा लगेगा...???
उसका समय, इज्जत व पैसा वापिस कौन लौटा पायेगा...???
कई बार तो पैसा नही होने की वजह से वकील की फीस तक नही दे पाते हैं इसलिए भी जमानत नही हो पाती है और वर्षो तक जेल में रहना पड़ता है ।
दूसरी और षड़यंत्र के तहत निर्दोष हिन्दू साधु-संतों और हिंदुत्वनिष्ठों के साथ भी ऐसा ही किया जा रहा है ।
जैसे 9 साल से साध्वी प्रज्ञा, 7 साल से स्वामी असीमानन्द, 7 साल से स्वामी अमृतानन्द, 7 साल से कर्नल पुरोहित, 3 साल से संत आसारामजी बापू, 3 साल से नारायण साईं, 2 साल से धनंजय देसाई आदि जेल में हैं ।
जिन पर आज तक एक भी अपराध सिद्ध नही हुआ है लेकिन उनको जमानत तक नही मिल पा रही है ।
इसमें से साध्वी प्रज्ञा और संत आसारामजी बापू को तो क्लीन चिट भी मिल गई है फिर भी जमानत नही मिल पा रही है ।
क्या इनका यही कसूर था कि हिन्दू संस्कृति की रक्षा के लिए ये तन-मन-धन से लगे थे इसलिए उनको जमानत नही दी जा रही है???
जब इन सुप्रसिद्ध संतों को जमानत नही मिल रही है तो आम जनता कैसे विश्वास करें न्यायालय पर ?
जल्दी न्याय नही मिलने पर आम जनता का न्याय प्रणाली पर से भरोसा उठ रहा है। सरकार और न्यायप्रणाली को इस ओर ध्यान देना चाहिए ।

Friday, November 25, 2016

Beware Of Soft Drinks

🚩#सरकारी #अध्ययन में हुआ बड़ा खुलासा : #सॉफ्ट #ड्रिंक्स में पाये गए #जहरीली #धातुओं के अंश !!
🚩#सरकार के एक अध्ययन के अनुसार #स्वास्थ्य #राज्यमंत्री #फग्गन सिंह कुलास्ते ने #राज्यसभा में बताया है कि कुछ #सॉफ्ट #ड्रिंक्स और #फार्मा #प्रोडक्ट वाली पीईटी बोतलों के सैंपल में भारी धातु मिले हैं जो #स्वास्थ्य के लिए #खतरनाक हैं।
🚩उन्होंने कहा कि #मंत्रालय के #ड्रग्स टेक्निकल एडवाइजरी बोर्ड के #अध्ययन में यह बात सामने आई है।
🚩#जिन पीईटी #बोतलों के सैंपल टेस्ट किए गए थे उनमें #स्प्राइट, #माउंटेन #ड्यू, #सेवन अप, #पेप्सी और #कोकाकोला शामिल हैं।
Jago Hindustani - Beware Of Soft Drinks


🚩सदन में एक सवाल के लिखित जवाब में कुलास्ते ने कहा कि, 'ये #सैंपल नेशनल टेस्ट हाउस (#कोलकाता ) में जांच के लिए जमा किए गए थे।'
🚩#कुलास्ते ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि #कोलकाता के #ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ हायजीन एंड पब्लिक #हेल्थ ने इसे स्टडी किया था।
🚩#सॉफ्ट ड्रिंक्स की लत से रोजाना हो रही है 504 मौतें !!
🚩आपको बता दें कि #हावर्ड यूनिवर्सिटी में हुए एक शोध के मुताबिक #कोल्ड ड्रिंक (पेप्सी, कोकाकोला) या डिब्बाबंद जूस और हेल्थ ड्रिंक पीने से न सिर्फ ब्लड शुगर का स्तर बढ़ जाता है बल्कि #इंसुलिन के खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता भी विकसित होने लगती है। इससे व्यक्ति धीरे-धीरे #डायबिटीज और #हृदयरोगों (हार्टअटैक) की चपेट में आने लगता है।
🚩#अमेरिका की टफ्ट्स यूनिवर्सिटी में किये गए अध्ययन के अनुसार #सॉफ्ट ड्रिंक की लत से होने वाले रोग जैसे #डायबिटीज से हर साल 1.33 लाख जानें जाती हैं, #हृदयरोग से लगभग 45,000 और #कैंसर से 6,500 लोग मौत के शिकार होते हैं। यानी कुल 1.84 लाख मौतों के लिए #सॉफ्ट ड्रिंक जिम्मेदार है ।
🚩ऐसे #खतरनाक, आपके प्राणों के साथ खेलने वाले #सॉफ्ट ड्रिंक को आप बड़े मजे से पीते हैं और दूसरों को भी पिलाते हैं।
🚩#घर में मेहमान आये तो स्वागतम में #सॉफ्ट ड्रिंक पिलाते हैं ।
🚩अनजाने में क्या आप अपने और #मेहमानों के साथ दुश्मनी का #व्यवहार नहीं कर रहें, ऐसे जहरीले #सॉफ्ट ड्रिंक पीकर और पिलाकर ?
🚩इससे तो आप अपने #मेहमानों को #लस्सी, ताजे #फलों का ज्यूस, #गुलाब शरबत, #नीबू शरबत, #पलाश शरबत पिलाइये जिससे मेहमान भी #स्वस्थ्य रहें और आपका #पैसा भी कम #खर्च हो और पैसा #विदेश में न जाकर #देश में ही रहे ।
🚩#मेरे #भारतवासियों !
#घर के बनाये #पेय पदार्थों का सेवन कर खुद भी #स्वस्थ रहें और अपने मेहनत से कमाएं पैसे का भी सही और उचित जगह उपयोग करके #देश को #समृद्ध बनायें।
🚩जय हिन्द !!!
♦ Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺Facebook : https://goo.gl/dfOAjZ
🔺 Twitter : https://goo.gl/he8Dib
🔺 Instagram : https://goo.gl/PWhd2m
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺Blogger : https://goo.gl/N4iSfr
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ
    🚩🇮🇳🚩 आज़ाद भारत🚩🇮🇳🚩

Thursday, November 24, 2016

गौ-माता की महिमा है बड़ी भारी

🚩#गौ-माता की महिमा है बड़ी भारी...!!!
🚩#अमेरिका के #कृषि विभाग द्वारा #गौ -महिमा आधारित एक #पुस्तक प्रकाशित की गई है जिसका नाम है "#THE COW IS A WONDERFUL LABORATORY "
🚩#THE COW IS A WONDERFUL LABORATORY के अनुसार प्रकृति के समस्त जीव-जंतुओं और सभी दुग्धधारी जीवों में केवल #गाय ही ऐसा प्राणी है जिसके शरीर में लम्बी आंत होती है जबकि अन्य पशुओं में ऐसा नहीं है । इसी कारण #गाय जो भी खाती-पीती है वह अंतिम छोर तक जाता है । इसलिये उसका #दूध उत्तम माना जाता है ।

jagohindustani- cow and benifits

🚩#शास्त्रों के अनुसार #सूर्य में से अनेक किरणें निकलती हैं जिसमें से एक #गौ-किरण भी निकलती है जो केवल #गाय माता ही ग्रहण करती है जिससे उसका नाम #गौ-माता रखा गया और इसलिये #गौ दूध में पीलापन यानि #सुवर्णक्षार होते है ।
🚩#गौ वात्सल्य :-  #गौ माता बच्चा जनने के  बाद अपने बच्चे के साथ रहती है और उसे चाटती है इसीलिए लाखों बच्चों में भी वह अपने बच्चे को पहचान लेती है जबकि #भैंस और जरसी अपने बच्चे को नहीं पहचान पाती ।
🚩#गाय जब तक अपने बच्चे को अपना #दूध नहीं पिलाएगी तब तक #दूध नहीं देती है , जबकि भैस,जर्सी होलिस्टयन के आगे चारा डालो और #दूध दुह लो ।
🚩आज बच्चों में क्रूरता इसीलिए भी बढ़ रही है क्योंकि जिसका वे #दूध पी रहे हैं उसके अन्दर ममता नहीं है ।
🚩देसी #गाय की खीस : बच्चा देने के बाद  #गाय के स्तन से जो #दूध निकलता है उसे खीस, चाका, पेवस, कीला, तेली कहते हैं। #बच्चा देने के 15 दिनों तक इस दूध में #प्रोटीन की अपेक्षा #खनिज तत्वों की मात्रा अधिक होती है व लेक्टोज, वसा ( फैट ) एवं पानी की मात्रा कम होती है ।
🚩#खीस वाले दूध में एल्व्युमिन दो गुनी , ग्लोव्लुलिन 12-15 गुनी तथा #एल्युमीनियम की मात्रा 6 गुनी अधिक पायी जाती है ।
🚩#लाभ : खीज में भरपूर खनिज है ।
काली #गौ का दूध ( खीझ) एक हफ्ते पिला देने से वर्षो पुरानी टी.बी. खत्म हो जाती है । कई भयंकर बीमारियां ठीक हो जाती है ।
🚩#सींग :- #गाय के सींगो का आकार सामान्यतः पिरामिड जैसा होता है , जो कि शक्तिशाली एंटीना की तरह आकाशीय उर्जा ( कोस्मिक एनर्जी ) को संग्रह करने का कार्य करते हैं।
🚩#देसी #गाय का कन्धा ( ढिल्ला ) : #गाय के कुकुद्द में सूर्यकेतु नाड़ी होती है जो सूर्य से अल्ट्रावायलेट किरणों को रोकती है , #गाय के #दूध में सोना पाया जाता है जिससे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है इसलिए #गाय का #घी हल्के पीले रंग का होता है ।
🚩#देसी गाय का दूध :  #गाय के दूध के अन्दर जल 87 % वसा 4 %, प्रोटीन 4% , शर्करा 5 % , तथा अन्य तत्व 1 से 2 % प्रतिशत पाये जाते हैं । गाय के दूध में 8 प्रकार के प्रोटीन , 11 प्रकार के विटामिन्स तथा गाय के दूध में ‘ कैरोटिन ‘ नामक प्रदार्थ भैस से दस गुना अधिक होता है ।
🚩#भैस का #दूध गर्म करने पर उसके पोषक ज्यादातर खत्म हो जाते हैं परन्तु गाय के दूध के पोषक तत्व गर्म करने पर भी सुरक्षित रहते हैं ।
🚩#गाय का #मूत्र :  #गाय के #मूत्र में #आयुर्वेद का खजाना है , इसके अन्दर ‘ #कार्बोलिक एसिड ‘ होता है जो कीटाणु नाशक है , #गौ मूत्र चाहे जितने दिनों तक रखे खराब नहीं होता है, इसमें #कैसर को रोकने वाली "करक्यूमिन" पायी जाती है । गौ मूत्र में नाइट्रोजन ,फास्फेट, यूरिक एसिड , पोटेशियम , सोडियम , लैक्टोज , सल्फर, अमोनिया, लवण रहित विटामिन ए वी सी डी ई , इन्जैम आदि तत्व पाए जाते हैं । देसी गाय के #गोबर-मूत्र-मिश्रण से ‘ #प्रोपिलीन ऑक्साइड ” उत्पन्न होती है जो बारिश लाने में सहायक होती है । इसी के मिश्रण से ‘ #इथिलीन ऑक्साइड ‘ गैस निकलती है जो ऑपरेशन थियटर में काम आती है ।
🚩#गौ मूत्र में मुख्यतः 16 खनिज तत्व पाये जाते हैं जो शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाते हैं ।
🚩#गौ माता के #गोबर से गैस बनती है जो आपके #रसोई घर में उपयोग आ सकती है । उसका खाद जिस जमीन पर पड़ता है वो बंजर जमीन भी उपजाऊ हो जाती है और उस जमीन का धान्य बहुत पौष्टिक होता है ।

🚩#गौ-माता के सूखे कंडे में #घी डालकर धुँआ किया जाये तो 1 टन #ऑक्सीजन बनता है ।
🚩#दुनिया में किसी भी प्राणी का मल-मूत्र पवित्र नही माना जाता । यहाँ तक कि #मनुष्य का भी मल-मूत्र पवित्र नही माना जाता है केवल #गाय ही ऐसा प्राणी है जिसका #गोबर और #गौ-मूत्र पवित्र माना जाता है । यहाँ तक कि #पूजा पाठ में भी #गोबर और #गौ-मूत्र का उपयोग किया जाता है ।
🚩#गौ माता के #दूध #दही #घी #मूत्र व #गोबर का #पंचगव्य बनाकर पिया जाये तो भयंकर बीमार व्यक्ति भी ठीक हो जाता है ।
🚩#गाय का शरीर : #गाय के शरीर से पवित्र #गु्गल जैसी सुगंध आती है जो वातावरण को शुद्ध और पवित्र करती है ।
🚩जननी जनकार #दूध पिलाती, केवल साल छमाही भर !
#गोमाता पय-सुधा पिलाती, रक्षा करती #जीवन भर !!
🚩#गौ-माता की कितनी भी महिमा गाओ, कम है ।
🚩अब वक्त आ गया है कि सभी को मिलकर #गौ-माता को #राष्ट्रपशु का दर्जा दिलाकर तन-मन-धन से इसकी रक्षा करनी है ।
♦ Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺Facebook : https://goo.gl/dfOAjZ
🔺 Twitter : https://goo.gl/he8Dib
🔺 Instagram : https://goo.gl/PWhd2m
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺Blogger : https://goo.gl/N4iSfr
    🚩🇮🇳🚩 आज़ाद भारत🚩🇮🇳🚩